गरीबों के लिए रसोई गैस सस्ती हो, समृद्धों के लिए सब्सिडी हटे: अध्ययन

नई दिल्ली: भारत के नव-जुड़े 7.3 करोड़ गरीब परिवारों के लिए रसोई गैस सिलेंडर पर स...

वास्तविक आय में सुधार होने से, किसानों के बच्चों के द्वारा खेती करने की संभावना कम

बेंगलुरू: हालांकि, पिछले सात वर्षों से 2012 तक, देश भर में आय की गतिशीलता में सुध...

घर तक सेवा पहुंचाने वाले भारतीय कामगारों पर काम का बोझ ज्यादा, वेतन कम

मुंबई और बेंगलुरु: अप्रैल 2018 की एक शाम मुंबई के लोअर परेल के धमनी व्यवसायिक जि...

1999 के बाद से, हर आम चुनाव के बाद क्यों बढ़ता है निफ्टी और सेंसेक्स?

पुणे: भारत के प्रमुख शेयर बाजार सूचकांकों, निफ्टी और सेंसेक्स में, पिछले छह म...

केरल के श्रमिक केंद्रों में, नोटबंदी के बाद प्रवासी श्रमिकों की हालत बदतर

(बंगाल के मुर्शिदाबाद के निरक्षर राजमिस्त्री जलालुद्दीन शेख सात साल पहले क...

जयपुर की जर्जर अनौपचारिक अर्थव्यवस्था में ग्रेजुएट, फैक्ट्री मालिक और किसानों को श्रमिक नौकरियों की तलाश

  ( जयपुर के मार्केट स्काव्यर में कॉन्ट्रैक्टर का इंतजार करते दिहाड़ी मजदूर। नोटबंदी और गुड्स एंड सर्विस टैक्स के बद्तर कार्यान्वयन और चीनी के द्वारा संचालित वस्तुओं से प्रतिस्पर्धा ने राष्ट्रव्यापी अर्थव्यवस्थाओं को अपंग बना दिया है। )   जयपुर: भारत के गुलाबी शहर के तीन बाजार क्षेत्रों में, खड़े एक पूर्व कृषक दंपति, … Continued

भारत में रिकॉर्ड एफडीआई, फिर भी विनिर्माण को बढ़ावा नहीं

  मुंबई: एक अध्ययन के अनुसार, नीतिगत बदलावों के बावजूद,  वर्तमान राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) और इससे पहेल कांग्रेस द्वारा संचालित शासन के दौरान, भारत में विदेशी प्रत्यक्ष निवेश (एफडीआई) के “व्यापक चरित्र में कोई ठोस परिवर्तन नहीं हुआ है।”   यह अध्ययन नई दिल्ली स्थित इंडियन इंस्टीट्यूट फॉर स्टडीज इन इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट (आईएसआईडी) द्वारा … Continued

गाय से संबंधित हिंसा बढ़ने से भारत से चमड़ा निर्यात में गिरावट

  नई दिल्ली: भारत में चमड़ा उद्योग की ओर से निर्यात में गिरावट हुई है। हालिया उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक, 2016-17 के वित्तीय वर्ष में 3 फीसदी से अधिक और 2017-18 की पहली तिमाही में 1.30 फीसदी की गिरावट आई है। जबकि 2013-14 में, 18 फीसदी से अधिक की वृद्धि हुई थी। यह जानकारी व्यापार … Continued